अब बच्चे की स्कूल आईडी का इस्तेमाल करके बनेगा उसका आधार कार्ड, UIDAI ने जारी किए दिशा निर्देश

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

नई दिल्ली, स्कूल में एडमिशन कराना हो या फिर किसी सरकारी योजना का लाभ प्राप्त करना हो, ऐसे कई जरूरी कामों के लिए बच्चे का आधार (Baal Aadhaar) होना बहुत जरूरी है. अगर आपके बच्चे के पास आधार कार्ड नहीं है तो आपके बच्चे के कई जरूरी काम अटक सकते हैं. आधार की उपयोगिता और इसके फायदों को देखते हुए UIDAI ने नवजात बच्चों के लिए भी आधार कार्ड जारी करना शुरू कर दिया है. इसका सीधा मतलब ये हुआ कि अब एक नवजात बच्चे को आईडी कार्ड बनवाने के लिए 18 साल तक का इंतजार नहीं करना पड़ेगा, आधार के जरिए वह पैदा होते ही अपनी पहचान साबित कर सकता है कि वह कौन है, उसके पिता कौन हैं और उसके घर का पता क्या है?

जल्द ही घृणा और आक्रोश के चार्ट में सबसे ऊपर हो सकते हैं, सरकार पर राहुल गांधी का तंज़

बच्चों के लिए आधार कार्ड क्यों जरूरी है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आधार की बदौलत ही आज एक छोटे बच्चे के पास भी अपनी खुद की आइडेंटिटी होती है. यदि आधार को हटा दिया जाए तो आपके बच्चे को अपनी पहचान का प्रमाण साबित करने के लिए 18 साल का होने का इंतजार करना पड़ेगा क्योंकि वोटर आईडी कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस जैसे डॉक्यूमेंट 18 साल की उम्र के बाद ही बनाए जाते हैं।

200 यूक्रेनी सैनिकों पर सोते समय रूस ने दागे रॉकेट, 50 शव बरामद मलबे में और शव दबे होने की आशंका

अगर आपका बच्चा स्कूल में पढ़ता है और अभी तक उसका आधार कार्ड नहीं बना है तो आप बच्चे की स्कूल आईडी का इस्तेमाल करके आधार कार्ड बनवा सकते हैं. हालांकि, आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपका बच्चा एक मान्यता प्राप्त स्कूल में पढ़ता है और स्कूल द्वारा जो आईडी कार्ड जारी किया गया है, उसमें बच्चे की तस्वीर लगी हो. और अगर आपका बच्चा अभी स्कूल नहीं जाता है तो आप उसके जन्म प्रमाण पत्र का इस्तेमाल कर उसका आधार कार्ड बनवा सकते हैं।

बिना AADHAAR के भी Co-WIN पोर्टल पर करा सकते हैं बच्चो का रजिस्ट्रेशन, जानिए क्या है पूरी प्रक्रिया

बच्चे का आधार कार्ड बनवाते समय उसकी जन्म तिथि पर खास ध्यान रखना चाहिए. कई बार देखा जाता है कि बच्चों के आधार पर उसकी डेट ऑफ बर्थ गलत हो जाती है, जिसके बाद माता-पिता को बच्चे के आधार में जन्म तिथि को ठीक कराना पड़ता है. UIDAI के नियमों के मुताबिक आधार कार्ड में सिर्फ एक बार ही डेट ऑफ बर्थ को अपडेट या ठीक कराया जा सकता है. इसलिए, आप जब कभी भी अपने बच्चे का आधार कार्ड बनवाने जाएं तो फॉर्म भरते समय और एनरॉलमेंट के समय उसकी डेट ऑफ बर्थ पर खास ध्यान रखें

दुनिया भर में एक बार फिर से पाँव पसार रहा है कोरोना, एक हफ़्ते में एक करोड़ से ज्यादा नए संक्रमण किए गए दर्ज

 

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X