मैनपुरी जिले में किसान को मिले खेत से 4000 वर्ष पुराने द्वापर युग के प्राचीन हथियार

लखनऊ:  उ त्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले में खेत के टीले को समतल करने के दौरान किसान को हजारों वर्ष पुराने हथियार मिले। तलवारें, छुरियां, त्रिशूल और भाले सभी तांबे के बने हुए हैं।

जिसके बाद फ़ौरन ही इसकी सूचना स्थानीय प्रशासन को दी गई। स्थानीय पुलिस और भारतीय पुरातत्व विभाग ने हथियार मिलने वाले स्थान को सील कर दिया है। हथियारों की संख्या करीब 39 बताई जा रही है।

बांग्लादेश में बाढ़ का क़हर, 81 लोगों ने गवाँई अपनी जान, 122 साल की सबसे भीषण बाढ़

 

दरअसल, यह मामला जनपद के तहसली कुरावली क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गणेशपुर गांव का है। जहां किसान बहादुर सिंह फौजी खेत में मिट्ठी के टीले को समतल कर रहे थे। इसी दौरान जमीन से मिट्टी से लिपटे हथियार बाहर आने लगे। आसपास और खुदाई की गई तो धातु के 39 हथियार बरामद हुए। किसान इन हथियारों को सोने-चांदी का समझकर अपने घर ले गया था। मगर खेत में हथियार मिलने की खबर पूरे गांव में आग की तरह फैल गई। जिसके बाद इसकी सूचना स्थानीय पुलिस दो गई और सभी हथियारों को कब्जे में लेकर हथियार मिलने वाली जगह को सील कर दिया गया।

मैक्रोनी ने ली युवक की जान, भाई अस्पताल में लड़ रहा है जिंदगी की जंग

इन हथियारों को देखकर पुरातत्वविदों की उत्सुकता कभी बढ़ गई है। तांबे के हथियारों की जांच के बाद जो शोध परिणाम सामने आए हैं, उससे आर्कियोलॉजिस्ट बहुत रोमांचित हैं। पता चलता है कि प्राचीन काल में भी भारतीय लड़ाकों के पास उन्नत हथियार थे। कुछ विशेषज्ञ इन हथियारों को द्वापर युग का बता रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि ये हथियार 4000 वर्ष पुराने हैं।

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X