लगातार बढ़ रहा है नौकरियों का संकट, बेरोजगारी दर बढ़कर जुलाई-सितंबर 2020 में बढ़कर 13.3% पर पहुंची

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

नयी दिल्ली, देश में बेरोजगारी दर पिछले साल जुलाई-सितंबर में बढ़कर 13.3 प्रतिशत हो गयी जो एक साल पहले इसी अवधि में 8.4 प्रतिशत थी। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय के नियमित अंतराल पर होने वाला श्रम बाजार सर्वे में यह कहा गया है। बेरोजगारी दर से आशय कार्यबल में वैसे लोगों के प्रतिशत से है, जिन्हें कोई रोजगार नहीं मिला है। नियमिति अंतराल पर होने वाले आठवें श्रम बल सर्वे के अनुसार बेरोजगारी दर अप्रैल-जून 2020 में 20.9 प्रतिशत थी।

सर्वे के अनुसार पिछले साल जुलाई- सितंबर तिमाही में सभी उम्र के लिए श्रम बल की भागीदारी दर 37 प्रतिशत थी। यह उससे एक साल पहले इसी अवधि में 36.8 प्रतिशत थी। जबकि अप्रैल-जून 2020 में यह 35.9 फीसदी थी राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय एनएसओ) ने अप्रैल 2017 में निश्चित अवधि पर किये जाने वाले श्रम बल सर्वेक्षण पीएलएफएस) शुरू किया था।

पीएलएफएस के आधार पर, श्रम बल का अनुमान देते हुए एक त्रैमासिक बुलेटिन जारी किया जाता है। इसमें श्रमिक जनसंख्या अनुपात डब्ल्यूपीआर), श्रम बल भागीदारी दर एलएफपीआर), बेरोजगारी दर, वर्तमान साप्ताहिक स्थिति सीडब्ल्यूएस) के तहत रोजगार और कार्य- उद्योग की व्यापक स्थिति के आधार पर श्रमिकों का वितरण आदि के बारे में जानकारी दी जाती है।

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X