आगामी धान खरीद वर्ष 2021-22 की तैयारियों के सम्बन्ध में बैठक आयोजित, समस्त क्रय केन्द्रों पर ई-पाॅप मशीन की व्यवस्था समय से सुनिश्चित करने के निर्देश

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

लखनऊ:, उत्तर प्रदेश के खाद्य तथा रसद राज्यमंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह ने आगामी धान खरीद वर्ष 2021-22 की तैयारियों के सम्बन्ध में खाद्य तथा रसद विभाग एवं विभिन्न क्रय एजेंसियों के साथ आज यहाॅ अपने कार्यालय कक्ष में बैठक कर तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि किसानों के पंजीकरण के उपरान्त सत्यापन समय से कराया जाये ताकि किसानों को धान बिक्री में कठिनाई न हो, इस हेतु जिलाधिकारियों एवं उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिये जायें।
धुन्नी सिंह ने समस्त अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जनपदों में धान खरीद 01 अक्टूबर, 2021 से आरम्भ है इसलिये खरीद से पूर्व क्रय केन्द्रों पर समस्त तैयारियाँ सुनिश्चित करायें। सभी जनपदों में क्रय केन्द्रों की स्थापना समय से करा ली जाये और क्रय केन्द्रों पर धान खरीद हेतु उपकरणांे की व्यवस्था, बोरा, हैण्डलिंग परिवहन ठेकेदारों की नियुक्ति एवं धनराशि की व्यवस्था समय से सुनिश्चित करायें। इसके साथ ही समस्त क्रय केन्द्रों पर ई-पाॅप मशीन की व्यवस्था समय से करा ली जाये।


बैठक के दौरान खाद्य आयुक्त पी0 गुरूप्रसाद ने बताया कि इस वर्ष धान का समर्थन मूल्य सामान्य-1940 रूपये प्रति कुन्तल व गे्रड ‘ए’ 1960 रूपये प्रति कुन्तल निर्धारित है। इस वर्ष खाद्य विभाग एवं अन्य क्रय एजेंसियों के 4000 क्रय केन्द्र स्थापित किये जा रहे हैं। इस वर्ष धान की खरीद सभी क्रय केन्द्रों पर ई-पाॅप मशीन द्वारा की जायेगी। सभी केन्द्रो पर ई-पाॅप मशीन की व्यवस्था की गयी है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष क्रय नीति में महत्वपूर्ण परिवर्तन किये गये हैं, जिसके तहत किसान का पंजीकरण आधार लिंक मोबाइल पर ओ0टी0पी0 पे्रषित कर पंजीकरण होगा। धान का भुगतान किसान के आधार लिंक बैंक एकाउंट में किया जायेगा। इस वर्ष धान की बिक्री हेतु सप्ताह में चार दिन सोमवार से बृहस्पतिवार छोटे किसानों से 50 कुन्तल की खरीद की जायेगी तथा शेष दो दिन शुक्रवार व शनिवार को किसान 50 कुन्तल मात्रा की बिक्री कर सकेंगे।

प्रसाद ने बताया कि किसानों की भूमि का रकबा व उपज का आॅनलाईन सत्यापन उपजिलाधिकारी द्वारा किया जायेगा। राजस्व विभाग से सत्यापन के उपरान्त ही सत्यापित मात्रा की खरीद की जायेगी। इस वर्ष आॅनलाईन टोकन के आधार पर खरीद की जायेगी, किसान स्वयं अथवा साईबर कैफे के माध्यम से इच्छित तिथि का टोकन प्राप्त कर सकेंगे।
महाप्रबन्धक, भारतीय खाद्य निगम श्री रजत शर्मा ने बताया कि कस्टम चावल भण्डारण हेतु भारतीय खाद्य निगम के गोदामों में पर्याप्त भण्डारण क्षमता उपलब्ध है।
सहकारिता विभाग की क्रय संस्था के प्रबन्धक, निदेशक, पी0सी0एफ0, यू0पी0एस0एस0, पी0सी0यू0 द्वारा अवगत कराया गया कि एजेंसियों के पास धान खरीद में किसानों को भुगतान के लिये धनराशि की व्यवस्था अभी नहीं हो पायी है। बैंक से ऋण प्राप्त करने के प्रयास किये जा रहे हैं। इस सम्बन्ध में मंत्री द्वारा आयुक्त खाद्य रसद को आवश्यक कार्यवाही के सम्बन्घ में निर्देशित किया गया है।
बैठक में अपर आयुक्त खाद्य तथा रसद विभाग  अनिल कुमार, अपर आयुक्त विपणन खाद्य तथा रसद, अरूण कुमार सिंह, प्रबन्ध निदेशक पी0सी0एफ0, मासूम अली सरवर, निदेशक मण्डी परिषद, अंजनी कुमार सिंह, प्रबन्ध निदेशक यू0पी0एस0एस0, राजीव यादव, महाप्रबन्धक, पी0सी0यू0, मुकेश दीक्षित, अधिशासी निदेशक, पी0सी0एफ0, आलोक दीक्षित उपस्थित रहे।

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X