आधार ने बदले कुछ नियम, जानिए कैसे और क्या होगा तरीका

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

नई दिल्ली, आधार कार्ड प्रत्येक भारतीय नागरिक के लिए महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट माना जाता है. आधार कार्ड केवल एक डॉक्यूमेंट ही नहीं, बल्कि पहचान पत्र है. किसी प्रकार के वित्तीय लेनदेन और सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए आधार बेहद जरूरी है. आधार में न सिर्फ आपके पते की जानकारी होती है, बल्कि इसमें व्यक्ति की बायोमेट्रिक जानकारी भी होती है. अब बच्चों के लिए भी आधार कार्ड उतना ही जरूरी है।

ये उनके स्कूल एडमिशन आदि चीजों में काम आ सकता है. अगर बच्चा 5 साल से छोटा हो तो बिना बायोमेट्रिक डाटा के आधार बनवा सकते हैं. इसे बाल आधार भी कहते हैं।

 

यदि आपका बच्चा पांच साल से कम उम्र का है तो आप उसके लिए बाल आधार बनवा सकते हैं. बच्चों के लिए जारी किया जाने वाला आधार नीले रंग का होता है. बाल आधार के लिए जहां कहीं भी बच्चे की पहचान की जरूरत होती है, वहां उसके माता-पिता को साथ जाना होता है. लेकिन बच्चे के पांच वर्ष के होने पर उसे अपने पास वाले स्थायी आधार केंद्र पर जाकर उसी आधार संख्या से बायोमेट्रिक विवरण रजिस्ट्रर कराना होता है।

क्या है पूरा प्रोसेस

सबसे पहले आवेदक को UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. यहां होम पेज पर ‘Get AAdhaar’ में से ‘Book an appointment’ पर क्लिक करना होगा. पेज खुलने के बाद आपको अपना राज्य, जिले व आधार केंद्र का चयन कर अपना appointment बुक करना होगा. इसके बाद आपको अपना मोबाइल नंबर डालकर और ओटीपी दर्ज कर appointment की तारीख बुक करनी होगी.

कैसे करें आवेदन

आवेदन करने के लिए आधार केंद्र में अपने और बच्चे के दस्तावेज लेकर जाने होंगे. यहां आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरना होगा. इस फॉर्म में आपको बच्चे का नाम, माता-पिता का आधार नंबर और अन्य जानकारियां देनी होंगी. अब आपको बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र व माता-पिता में से किसी एक का आधार नंबर केंद्र में जाकर देना होगा. बता दें कि रजिस्‍टर्ड मोबाइल नंबर पर 60 दिनों के बाद एक SMS आएगा. एनरोलमेंट प्रोसेस के 90 दिन के अंदर आपको बाल आधार भेज दिया जाएगा।

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X