देशभर में 40 दिन में होंगी करीब 32 लाख शादियां, होगा करीब 3.75 लाख करोड़ रुपये का कारोबार

नई दिल्ली, देशभर में 40 दिन में करीब 32 लाख शादियां होने की उम्मीद है। इससे 3.75 लाख करोड़ रुपये का कारोबार हो सकता है। शादियों के सीजन का पहला चरण देवउठनी एकादशी यानी 4 नवंबर से शुरू होकर 14 दिसंबर तक चलेगा।

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल की समान अवधि में देशभर में करीब 25 लाख शादियां हुई थीं।

इससे 3 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का कारोबार हुआ था। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि लोगों के खर्च करने की धारणा से दिवाली पर देशभर में रिकॉर्ड कारोबार हुआ था। इसी तरह, शादियों के सीजन में बेहतर कारोबार की संभावनाओं को देखते हुए देशभर के व्यापारियों ने व्यापक रूप से तैयारियां की हैं।

उन्होंने बताया कि प्रत्येक शादी में होने वाले कुल खर्च का करीब 20 फीसदी हिस्सा वर और वधू पर होता है। 80 फीसदी रकम शादी को संपन्न कराने वाली एजेंसियों को जाता है। इसलिए शादियां एक बड़े कारोबार का रूप ले चुकी हैं। शादियों का दूसरा चरण 14 जनवरी से शुरू होकर जुलाई, 2023 तक चलेगा। कैट की यह रिपोर्ट 35 शहरों के 4,302 कारोबारियों और सेवाप्रदाताओं की राय पर आधारित है।

दिल्ली में 3.50 लाख से ज्यादा शादियां
पहले चरण में दिल्ली में 3.50 लाख से ज्यादा शादियां होंगी। इन पर करीब 75,000 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।

इवेंट मैनेजमेंट एजेंसियों के लिए कमाई का मौका
संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया ने बताया कि शादियों का सीजन इवेंट मैनेजमेंट एजेंसियों के लिए कमाई का बड़ा मौका होता है। इस दौरान खरीदारी के अलावा विभिन्न प्रकार की सेवाओं की भी मांग बढ़ती है।

हर शादी में इतने होंगे खर्च

संख्या प्रति शादी खर्च
6 लाख 3 लाख रुपये
10 लाख 5 लाख रुपये
10 लाख 10 लाख रुपये
5 लाख 25 लाख रुपये
50,000 50 लाख रुपये
50,000 एक करोड़ से अधिक

नवंबर में 20, 21, 24, 25, 27, 29 एवं 30 तारीख शादियों के लिए सबसे उपयुक्त दिन हैं। दिसंबर में 4, 5, 7, 8, 9, 14 तारीख को सबसे अधिक शादियां होने का अनुमान है। .

शादियों के सीजन में सोने और उससे बने आभूषणों की मांग बढ़ सकती है। इससे कीमतों में भी तेजी आएगी। केडिया एडवाइजरी के निदेशक अजय केडिया का कहना है कि 2020 शादियों के लिए अच्छा सीजन नहीं रहा था। लेकिन, 2021 की तरह यह साल भी अच्छा रहने वाला है। धनतरेस और दिवाली पर बिक्री के रुझान को देखें तो 14 दिसंबर तक चलने वाले शादियों की सीजन में सोने की मांग अच्छी रहेगी। इसकी एक वजह यह है कि 2020 के 56,000 के मुकाबले सोना इस समय 51,000 के आसपास चल रहा है। जनवरी-सितंबर के बीच आभूषणों की मांग 380.7 टन रही, जो पिछले साल से ज्यादा है।

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X