केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमण के मामले, 45,352 सामने आये नए मामले

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

नई दिल्ली, देश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते नजर आ रहे हैं. भारत में कोरोना संक्रमण के 45,352 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,29,03,289 हो चुकी है. वहीं, लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के इलाज करा रहे मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, संक्रमण से 366 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,39,895 हो गई है. देश में संक्रमण का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या बढ़कर 3,99,778 हो गई है, जो कुल मामलों का 1.22 प्रतिशत है. पिछले 24 घंटे में इलाज करा रहे मरीजों के मामलों में कुल 10,195 की बढ़ोतरी दर्ज की गई. मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.45 प्रतिशत है.

देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी. वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए. देश में 19 दिसंबर को ये मामले एक करोड़ के पार, चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे.

कोरोना वायरस के सक्रिय मामले कुल मामलों के 1.22% : स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में कोरोना वायरस के सक्रिय मामले कुल मामलों के 1.22% हैं. दैनिक पॉजिटिविटी रेट 2.72% है और रिकवरी रेट 97.45% है. राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 65 करोड़ से ज़्यादा डोज़ उपलब्ध कराई गई है. राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी वैक्सीन की 4.36 करोड़ से ज़्यादा डोज़ उपलब्ध है.

कोरोना की तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने लोगों से वैक्सीन लगवाने और घर पर ही त्योहारों को मनाने की अपील की है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि हमें बड़े पैमाने पर लोगों को जुटने से बचना चाहिए. यदि ऐसा करना जरूरी हो, तो ध्यान रखें कि त्योहार में शामिल होने वाले सभी लोगों का टीकाकरण हो चुका हो. मंत्रालय ने टीकाकरण कराने और कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने की बात कही है. सरकार ने कहा कि टीका लगवाने के बाद भी लोगों को भीड़भाड़ से बचना चाहिए. केंद्र ने कहा कि यह सही है कि साप्ताहिक संक्रमण दर में कमी देखने को मिल रही है, लेकिन अब भी कोरोना की दूसरी लहर हमारे बीच से गयी नहीं है.

ब्रिटेन समेत 10 देशों से आनेवालों का आरटी-पीसीआर टेस्ट जरूरी : कोरोना के नये वैरिएंट सी.1.2 के सामने आने के बाद महाराष्ट्र और कर्नाटक की सरकारें अलर्ट हो गयी हैं. दोनों सरकारों ने राज्य के हवाई अड्डों पर आने वाले विदेशी यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य कर दिया है, भले ही उनके पास कोविड-19 की निगेटिव रिपोर्ट हो. बीएमसी ने कहा है कि तीन सितंबर से आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य होगा.

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X