Date :

विदाई के वक्त आये मिर्गी के दौरे ने फेरा दूल्हे के अरमानों पर पानी, दुल्हन ने साथ जाने से किया साफ इंकार

झाँसी, मामला उत्तर प्रदेश के झाँसी ज़िले का है जहाँ शादी की सभी रस्में पूरी होने के बाद जब सुबह विदाई का समय आया तो दूल्हा गश खाकर गिर गया। यह देख दुल्हन व उसके परिवार वाले भड़क उठे और विदाई से इन्कार कर दिया।

मामला कोतवाली पहुँच गया, जहाँ घण्टों तक दोनों पक्षों के बीच पंचायत हुई, लेकिन बात नहीं बनी। दुल्हन ने साथ जाने से स्पष्ट इन्कार कर दिया, जिसके बाद बिना दुल्हन के ही बरात वापस लौट गई।

कोतवाली थाना क्षेत्र स्थित मोहल्ला अलीगोल खिड़की अन्दर रहने वाले एक शाक्य परिवार में शनिवार को लड़की की शादी थी। प्रेमनगर थाना क्षेत्र स्थित पुलिया नम्बर 9 से बरात आई थी। रातभर शादी की रस्में चलती रहीं। मेहमानों ने भी दावत का मजा लिया। सुबह होते ही दान-दहेज का सारा सामान दूल्हे राजकुमार के यहाँ भेजने का सिलसिला शुरू हो गया। सारा सामान जा चुका था और विदाई की तैयारियाँ होने लगी। जैसे ही विदाई का कार्यक्रम शुरू हुआ और दुल्हन को कार में बैठाया गया, दूल्हे को चक्कर आया और वह बेहोश होकर गिर गया।

यह देखते ही दुल्हन पक्ष के लोग किसी गम्भीर बीमारी की आशंका से भयभीत हो गए और चर्चा शुरू हो गई। उधर, विदाई का कार्यक्रम रोक दिया गया और दुल्हन ने भी दूल्हे के साथ जाने से इन्कार कर दिया। दूल्हा व उसके परिजन सफाई देते रहे कि कोई बीमारी नहीं है, बस थकान की वजह से चक्कर आ गया, लेकिन दुल्हन तैयार नहीं हुई। काफी देर विवाद हुआ, जब बात नहीं बनी तो दूल्हा अपने रिश्तेदारों व परिजनों के साथ कोतवाली पहुँच गया। उसकी शिकायत सुनकर दुल्हन व उसके परिजनों को बुलाया गया।

बिना दुल्हन के वापस लौटी बरात

पुलिस ने दोनों पक्षों की बातचीत सुनी और आपस में सुलह-समझौता करने की बात कही, मगर बात नहीं बनी। दुल्हन ने स्पष्ट रूप से दूल्हे के साथ जाने से इन्कार कर दिया। मामले की गम्भीरता को देखते हुए कोतवाली पुलिस ने इस समस्या का हल बाद में निकालने का आश्वासन देते हुए दूल्हे पक्ष को वहाँ से जाने के लिए कह दिया। बाद में दुल्हन भी अपने भविष्य का हवाला देते हुए कोतवाली से अपने परिजनों के साथ घर चली गई और बरात वापस लौट गई।

दुल्हन ने कोतवाली पुलिस को दिए प्रार्थना पत्र में बताया कि उसके मोहल्ले में रहने वाले दो लोगों ने शादी में बिचौलिये की भूमिका निभाई थी। वह दूल्हा राजकुमार के पारिवारिक सदस्य भी हैं। उन्होंने ही मध्यस्थता करते हुए सम्बन्ध कराया था। साथ ही दूल्हे की मिर्गी की बीमारी भी छिपाई और गुमराह करते हुए शादी करा दी। दुल्हन ने प्रार्थना पत्र में बिचौलियों व उनकी पत्नी के खिलाफ धोखाधड़ी से शादी कराने के आरोप में कानूनी कार्यवाही करने की माँग की है।

शादी निरस्त कराने व खर्च दिलाने की माँग

दुल्हन ने कोतवाली पुलिस से स्पष्ट कहा कि मिर्गी का दौरा पडऩे वाले व्यक्ति के साथ मैं जीवनयापन नहीं कर सकती हूँ। मेरी शादी निरस्त कराते हुए शादी में हुए खर्च का पैसा दूल्हा पक्ष से दिलाया जाए।

चप्पल सुँघाने के बाद होश में आया था दूल्हा

दुल्हन ने आरोप लगाते हुए बताया कि जब मिर्गी का दौरा पडऩे से दूल्हा बेहोश हो गया और उसे काफी देर तक होश नहीं आया तो किसी ने उसे चप्पल सुँघाई, तब जाकर उसे होश आया। हालाँकि वर पक्ष अन्त तक मिर्गी की बीमारी होने से इन्कार करता रहा।

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X