मुख्यमंत्री योगी ने गोरखपुर कैंसर अस्‍पताल में किया अत्‍याधुनिक मशीन का लोकार्पण

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

गोरखपुर, मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ शुक्रवार को गोरखपुर के हनुमान प्रसाद पोद्दार कैंसर अस्‍पताल पहुंचे. यहां पर उन्‍होंने अत्‍याधुनिक मशीन का लोकार्पण किया. 17 करोड़ की इस अत्‍याधुनिक रेडिएशन मशीन पर यूपी सरकार ने 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी है. इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि मरीजों की सुविधा के लिए ये मशीन काफी उपयोगी साबित होगी.।

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि पूर्वी यूपी को कैंसर जैसी बीमारी से मुक्ति देने के लिए आज एक नए युग की शुरुआत श्रद्धेय भाई जी हुनमान प्रसाद पोद्दार कैंसर अस्‍पताल दे रहा है. यहां पर अत्‍याधुनिक मशीन (हाई मल्‍टीपल लीनियर एक्‍सलेटर) का लोकार्पण सम्‍पन्‍न हुआ है।

हम सब जानते हैं कि भाई जी के नाम पर अस्‍पताल का निर्माण आज से लगभग 45-46 वर्ष पहले हुआ था. उस समय पूर्वी यूपी का ये क्षेत्र सामान्‍य स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं के लिए तरसता था।

लंबे समय तक स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं के अभाव के कारण इस क्षेत्र के नागरिकों को अपने उपचार के लिए लखनऊ दिल्‍ली और मुंबई समेत देश के अन्‍य चिकित्‍सा संस्‍थानों के ऊपर निर्भर रहना पड़ता था. उस कालखंड में इस ट्रस्‍ट के द्वारा कैंसर उपचार का ये केन्‍द्र श्रद्धेय भाई जी के नाम पर स्‍थापित करने का जो संकल्‍प लिया. वो निरंतर कैंसर रोगियों को अपने सीमित संसाधनों से बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा देने का प्रयास किया. आज उसी का परिणाम है कि आज हनुमान प्रसाद पोद्दार कैंसर अस्‍पताल उन दीन-दुखियों, गरीबों, वंचितों और कमजोर तबकों के लि एक नया जीवन और नई आशा की किरण बनकर आगे आता रहा है।

जिन्‍हें लगता था कि कैंसर हो गया है. तो एक समय कैंसर लाइलाज बीमारी समझी जाती रही है. आज से कुछ वर्ष पहले तक यही स्थिति रही है. दुर्भाग्‍य से किसी परिवार में किसी व्‍यक्ति को कैंसर हो जाता था, तो लोग मान लेते रहे हैं कि जिसे कैंसर हो गया है, वह व्‍यक्ति इस बीमारी से तो जाएगा ही, लेकिन साथ-साथ पूरे परिवार को भी आर्थिक तंगी से इतना कमजोर बना देगा कि उन लोगों को भी अपने बारे में सोचना पड़ेगा. लेकिन, व्‍यापक परिवर्तन हुआ है।

आज आप देख रहे होंगे कि आज हर एक पशेंट और हर एक नागरिक के लिए बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं उपलब्‍ध कराने के लिए गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाले लोगों के लिए शासन स्‍तर पर शासन ने अलग-अलग योजनाएं घोषित की हैं।

शासन के द्वारा की जाने वाली बड़ी धनराशि खर्च करने का मामला हो, या फिर एक सामान्‍य नागरिक को देश के किसी भी प्रतिष्ठित संस्‍थान में देने की सुविधा हो. ये आसानी से उपलब्‍ध हो सकता है. उन्‍होंने कहा कि पहले एकमात्र बीआरडी मेडिकल कालेज था. अब बहुत से संस्‍थान हैं. गोरखपुर में एम्‍स है. बीआरडी मेडिकल कालेज भी अत्‍याधुनिक और बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं दे रहा है. देवरिया, बस्‍ती और सिद्धार्थनगर में मेडिकल कालेज बन चुके हैं. पूरे यूपी में 33 मेडिकल कालेज बन रहे हैं. आज हमारे पास 350 लाइफ सपोर्ट एम्‍बुलेंस हैं. बड़े जिलों में 5 और छोटे जिलों में 3 की सुविधा है. वाराणसी में भी कैंसर संस्‍थान हैं और वहां के विशेषज्ञ वहां पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं. गोरखपुर में नेपाल और नार्थ बिहार का एक बड़ा हिस्‍सा व्‍यापार और चिकित्‍सा के लिए गोरखपुर पर निर्भर है।

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X