उत्तर प्रदेश के केबिनेट मंत्री पर बहू ने लगाए दहेज प्रताड़ना के गंभीर आरोप, की कार्यवाही की मांग, वीडियो हुआ वायरल

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

लखनऊ, उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन के ऊपर उनकी बहू दिशा टंडन ने गंभीर आरोप लगाया है। दिशा का आरोप है कि उन्हें दहेज के लिए प्रताड़ित किया जा रहा है. इसके अलावा, घर से भी निकाल दिया गया है. उन्होंने आशुतोष टंडन के ऊपर कार्रवाई करने की मांग की है।

दिशा टंडन का एक वीडियो भी वायरल हुआ है. इस वीडियो में वह कह रही हैं, मैं दिशा टंडन पौत्रवधू लालजी टंडन. मुझे कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन के द्वारा दहेज के लिए प्रताड़ित किया जा रहा है, जिसकी शिकायत मैंने कई जगह दर्ज कराने की कोशिश की, लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई. मैं योगी-मोदी जी से विनम्र निवेदन करती हूं कि मुझे न्याय मिले और इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई हो।

भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता और बिहार के राज्यपाल रहे लालजी टंडन की पौत्रवधू दिशा टंडन ने मजबूर होकर गृह मंत्री, रक्षा मंत्री, महिला आयोग, मुख्यमंत्री, गृहसचिव और डीजीपी को इस सम्बन्ध में पत्र लिखा है. उन्होंने आशुतोष टंडन के ऊपर कार्रवाई करने की गुहार लगायी है.

दिशा टंडन ने अपने पत्र में लिखा कि उनकी शादी 11 दिसंबर 2019 को मध्य प्रदेश के पूर्व राज्यपाल लालजी टंडन के पौत्र आयुष टंडन के साथ हुई. लालजी टंडन की मौत के बाद आशुतोष टंडन, उनकी पत्नी मधु टण्डन, छोटे भाई सुबोध टंडन, उनकी पत्नी वंदना टंडन, आयुष के पिता अमित टंडन, और आयुष की माता नमिता टंडन, आयुष की बड़ी बहनें तीरू खन्ना व सलोनी सहगल, छोटे भाई वंश टंडन मुझे मानिसक रूप से प्रताड़ित करते थे. वे गंदी गालियां भी देते थे और मारते भी थे. आयुष के ताऊ कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन आयुष को अपनी पत्नी को मारने के लिए उत्साहित करते थे.

 

दिशा ने बताया कि लालजी टंडन की मौत के दो महीने बाद मुझे घर से निकाल दिया गया. 28 सितंबर 2020 को मुझे मायके जाने के लिए कहा गया. उसके कुछ दिन पहले पूरे परिवार ने मुझे मारा-पीटा. मेरा हाथ भी तोड़ दिया. इसके बाद मैं जब 8 अक्टूबर 2020 को अपने ससुराल 64 सोंधी टोला, चौक, लखनऊ पहुंची तो मुझे घर से बाहर निकाल दिया गया. मेरे साथ बहुत बुरा बर्ताव किया गया है. कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन ने अपने मामा चंद्र मोहन मेहरोत्रा से गोली मारने की धमकी भी दिलायी, जिसकी रिकॉर्डिंग मेरे पास है.

 

दिशा टंडन का आरोप है कि उन्होंने मामले की शिकायत राज्य महिला आयोग से भी की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. इसके अलावा, उन्होंने महिला थाना, लखनऊ और चौक कोतवाली भी गईं, लेकिन उनकी नहीं सुनी गई. उन्होंने बताया, मैं अपने मायके में रह रही थी. मेरी शादी की पहली वर्षगांठ पर इन्होंने पारिवारिक न्यायालय से विवाह को शून्य कराने की नोटिस जारी करवाई. मैं बस इतना चाहती हूं कि मुझे बहू का सम्मान मिले, लेकिन कैबिनेट मंत्री अपने पद की धमकी देते हैं.

 

दिशा ने बताया कि जब मैं 16 दिसंबर 2021 को करीब दोपहर ढाई बजे अपनी मां के साथ अपने पति से मिलने पहुंची तो सुबोध टंडन, अमित टंडन, मधु टंडन, वंदना टंडन, नमिता टंडन और वंश टंडन ने मुझे बालकनी से भद्दी-भद्दी गालियां दीं और जान से मारने की धमकी भी दी. उन्होंने कहा कि जब तक 50 लाख रुपये, फॉर्च्यूनर गाड़ी आयुष को नहीं दोगी, यहां नहीं रह पाओगी. इनके यहां सीसीटीवी कैेमरा भी लगा है, पर जिस स्थान से इन्होंने गाली गलौज की, वो शायद कैमरे में न आया हो. आशुतोष टंडन से मेरी व मेरे परिवार की जान को खतरा है. ये मुझे मेरे पति से नहीं मिलने देते हैं।

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X