अफगानिस्तान में तालिबान सरकार का गठन, मुल्ला हसन अखुंद बने अफगानिस्तान के नए प्रधानमंत्री

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

काबुल, अफगानिस्तान में नई सरकार का मंगलवार की शाम को गठन कर दिया गया है. मुल्ला हसन अखुंद  अफगानिस्तान के नए प्रधानमंत्री होंगे. सिराजुद्दीन हक्कानी गृहमंत्री होंगे. मुल्ला अब्दुल गनी बरादर डिप्टी पीएम बनाए गए. मुल्ला याकूब अफगानिस्तान के नए रक्षा मंत्री होंगे. अमीर मुत्तकी को विदेश मंत्री बनाया गया है।

मुल्ला हसन तालिबान के शुरुआती स्थल कंधार से ताल्लुक रखते हैं और सशस्त्र आंदोलन के संस्थापकों में से हैं. उन्होंने ‘रहबरी शूरा’ के प्रमुख के रूप में 20 साल तक काम किया और मुल्ला हेबतुल्लाह के करीब माने जाते हैं. उन्होंने 1996 से 2001 तक अफगानिस्तान में तालिबान की पिछली सरकार के दौरान विदेश मंत्री और उप-प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया था. तालिबान के संस्थापक मुल्ला मोहम्मद उमर के बेटे मुल्ला याकूब नए रक्षा मंत्री होंगे. याकूब, मुल्ला हेबतुल्ला के छात्र थे, जिसने पूर्व में उन्हें तालिबान के शक्तिशाली सैन्य आयोग के प्रमुख के रूप में नियुक्त किया था.

अफगानिस्तान के नए गृह मंत्री सिराजुद्दीन हक्कानी का नाम वैश्विक स्तर के आतंकवादियों की सूची में हैं. अमेरिका ने उसके बारे में सूचना पर 50 लाख डॉलर का इनाम घोषित कर रखा है. अमेरिका के संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) की वेबसाइट के अनुसार, 2008 में अफगान राष्ट्रपति हामिद करजई की हत्या के प्रयास की साजिश में भी वह कथित रूप से शामिल था.

 

अंतरराष्ट्रीय समुदाय को स्वीकार्य समावेशी सरकार बनाने के लिए तालिबान पर बढ़ते दबाव के बीच यह घटनाक्रम पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल हमीद के पिछले हफ्ते अघोषित दौरे पर काबुल जाने के कुछ दिन बाद सामने आया है. अपने दौरे के दौरान आईएसआई प्रमुख ने मुल्ला बरादर और हिज्ब-ए-इस्लामी नेता गुलबुद्दीन हिकमतयार से मुलाकात की थी और अफगानिस्तान के मौजूदा हालात पर चर्चा की थी।

 

अफगानिस्तान में 3 सितंबर को होने वाले सरकार के एलान को टाला गया और उसके बाद पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई चीफ के दौरे के बाद सरकार में नामों को बदला गया. सिराजुद्दीन हक्कानी को आंतरिक सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गई है. वह यूएन की टेररिस्ट लिस्ट के अंदर अभी भी बने हुए हैं. हक्कानी नेटवर्क एक आतंकी संगठन यूएन लिस्ट में है।

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X