न्यूज़ीलैंड की अफगानिस्तान पर जीत से भारत हुआ T20 World Cup से बाहर, जानिए और क्या रही वजह

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

दुबई, न्यूजीलैंड ने रविवार को यहां टी20 विश्व कप के सुपर 12 चरण के ग्रुप दो मैच में अफगानिस्तान को आठ विकेट से हराया जिससे भारत सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हो गया।

सेमीफाइनल में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान और न्यूजीलैंड ने जगह बनाई है और 2007 में टी20 चैंपियन बनने वाली टीम इंडिया का पत्ता साफ हो गया है। टूर्नामेंट में टीम इंडिया की शुरुआत बेहद खराब रही। भारतीय टीम पाकिस्तान से ही पहला मैच 10 विकेट से हार गई। इसके बाद न्यूजीलैंड ने भी उसे एकतरफा अंदाज में 8 विकेट से हरा दिया। ये दो हार टीम इंडिया के लिए बड़ा झटका साबित हुई और अगले दो मैच जीतने के बावजूद उसके हाथ मायूसी ही लगी है। आइए आपको बताते हैं आखिर इस टूर्नामेंट में बेहद ही मजबूत टीम इंडिया ने ऐसी क्या गलतियां कर दी जिनकी वजह से वो अपनी राह भटक गई।

टीम इंडिया के इस खराब प्रदर्शन के कई कारण है। आइए हम एक-एक कर के सभी कारणों को आपके सामने रखते हैं।

पहली वजह

इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज तक टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन कमाल दिख रही थी। लेकिन आईपीएल 2021 खत्म होते-होते सबकुछ बदल गया। हार्दिक पंड्या की चोट की वजह से टीम इंडिया का संतुलन बिगड़ा। टीम ने उन्हें बतौर स्पेशलिस्ट बल्लेबाज मौका दिया और पाकिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया सिर्फ 5 गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतरी। पहले ही मैच में टीम इंडिया एक भी विकेट नहीं ले पाई और पाकिस्तान से हार के बाद भारतीय टीम अचानक बेहद कमजोर नजर आने लगी।

दूसरी वजह

रोहित शर्मा, विराट कोहली, केएल राहुल जैसे बल्लेबाजों से लैस टीम इंडिया ने वॉर्मअप मैचों में कमाल की बल्लेबाजी की लेकिन जैसे ही लीग स्टेज शुरू हुई सबके सब फ्लॉप हो गए। पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ भारतीय टॉप ऑर्डर बुरी तरह फ्लॉप रहा। यही नहीं भारतीय टीम पाकिस्तान से हार के बाद इतना घबरा गई की उसने रोहित शर्मा को ओपनिंग की जगह तीसरे नंबर पर उतार दिया। दुबई की पिच पर बल्लेबाजों ने इतने रन ही नहीं बनाए कि गेंदबाज उसके लिए जान लड़ा पाते।

तीसरी वजह

भारतीय टीम की नाकामी की तीसरी सबसे बड़ी वजह रही गेंदबाजों का गलत चयन। टीम इंडिया कभी युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव जैसे दो कलाई के स्पिनरों के साथ मैदान पर उतरती थी लेकिन इस पूरे टूर्नामेंट में विराट एंड कंपनी ने रिस्ट स्पिनर को प्लेइंग इलेवन में ही नहीं रखा। सबसे पहले युजवेंद्र चहल के अनुभव पर राहुल चाहर को तरजीह दी गई और इसके बाद इस गेंदबाज को प्लेइंग इलेवन में ही मौका नहीं दिया गया। नतीजा टीम इंडिया पहले दो मैचों के मिडिल ओवरों में विकेट ही नहीं चटका पाई।

चौथी वजह

टीम इंडिया की हार की चौथी बड़ी वजह टॉस भी रहा। दुबई में डे-नाइट मैचों में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम को हमेशा रन बनाने में परेशानी हुई और भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली पहले दो बड़े मैचों में ही टॉस हार गए। रात में गिरने वाली ओस की वजह से पाकिस्तान ने आसानी से 152 रनों का लक्ष्य हासिल किया और न्यूजीलैंड ने भी 111 रन बड़े आराम से बनाए।

5वीं बड़ी वजह

बायो-बबल की थकान भी टीम इंडिया की हार की बड़ी वजह रही। टीम इंडिया के खिलाड़ी इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज खेलने के बाद तुरंत यूएई पहुंचे और आईपीएल 2021 खेलने लगे। आईपीएल 2021 के फौरन बाद टी20 वर्ल्ड कप 2021 शुरू हो गया। बायो-बबल की थकान और अत्याधिक क्रिकेट खिलाड़ियों पर भारी साबित हुआ है और इसका जिक्र खुद कप्तान और टीम मैनेजमेंट कर चुका है।

भारत का सफर:

पाकिस्तान ने 10 विकेट से हराया

न्यूजीलैंड ने 8 विकेट से हराया

अफगानिस्तान को 66 रनों से हराया

स्कॉटलैंड को 8 विकेट से हराया

नामीबिया से कल मैच है।

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X