उत्तर प्रदेश में असर दिखाने लगा है मानसून, राजधानी लखनऊ सहित कई जिलों में झमाझम बारिश के आसार, IMD ने जारी किया एलर्ट

लखनऊ,  उत्‍तर प्रदेश के कानपुर, उन्‍नाव, इटावा, सह‍ित आसपास के कई ज‍िलों में झमाझम बार‍िश ने मौसम का म‍िजाज बदल द‍िया है। ज‍िससे एक बार फ‍िर तापमान में भारी ग‍िरावट दर्ज की गई है।

बारि‍श से पहले जहां उमस भरी गर्मी परेशान कर रही थी वहीं बार‍िश शुरु होने से मौसम ने ऐसी करवट ली क‍ि ठंडी हवाओं का दौर शुरु हो गया। मौसम व‍िभाग की माने तो पूरे प्रदेश में मानसून एक्‍ट‍िव हो गया है। अगले कुछ द‍िनों तक बादलों की आवाजाही जारी रहेगी। तेज हवाओं के साथ मूसलाधार बारि‍श भी होगी।

वाराणसी सहित पड़ोसी जिलों में झमाझम बरसात का दौर जारी है। बादलों की आवाजाही शुरू होने के बाद वातावरण में नमी का स्‍तर बढ़ते ही लोकल हीटिंग के बाद बूंदाबांदी का दौर शुरू हो जा रहा है। इस लिहाज से मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि मानसून भले ही सप्‍ताह भर की देरी से आया है लेकिन पर्याप्‍त सक्रियता मानसून की नजर आ रही है। बारिश के बाद तापमान में भी कमी का दौर शुरू हो रहा है और लोगों को गर्मी से राहत भी मिल रही है। शनिवार की सुबह से ही रिमझिम बरसात की शुरुआत हुई तो दिन चढ़ने तक यही क्रम बरकरार रहा। मौसम विभाग ने 48 घंटे के बाद वाराणसी सहित समूचे पूर्वांचल में झमाझम बरसात की उम्‍मीद जताई है।

प्रयागराज और आसपास के इलाकों में मानसून का आगाज हो चुका है। आज शनिवार को भी सुबह से ही घने बादल छाए हैं, ज‍िससे वर्षा के आसार दिख रहे हैं। मौसम विभाग ने आज रिमझिम व कल 3 जून को झमाझम वर्षा की संभावना जताई है। गुरुवार को दिन भर झमाझम वर्षा के बाद से आसमान में बादल तो छाए रहे लेकिन शुक्रवार को नहीं बरसे। इससे उमस फिर बढ़ गई। वर्षा के एक दिन बाद तापमान में तो कमी हुई लेकिन उमस ने बेहाल कर दिया है। मंगलवार को 40 डिग्री से ऊपर चल रहे तापमान में दो दिन में 14 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है। इससे लोगों को तेज धूप से राहत मिली है, पर उमस ने जरूर परेशान किया।

मेरठ और आसपास के जिलों में भीषण गर्मी के बाद अब जुलाई महीने की शुरुआत राहत देने वाली हुई है। वेस्‍ट यूपी में मानसून ने दस्‍तक दे दी है। शनिवार को सुबह से ही कई स्‍थानों पर बारिश हो रही है। शुक्रवार के बाद शनिवार को सुबह से आसमान पर बादल छाए हुए थे। तीन दिनों तक बारिश होने की संभावना है। जून में 43 डिग्री के पारे से झुलस रहे लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली। मौसम विज्ञानी के अनुसार गुरुवार को 9.3 मिलीमीटर बारिश हुई। गुरुवार को अधिकतम तापमान 27.7 डिग्री रहा, यह सामान्य से 9 डिग्री कम था। वहीं, न्यूनतम तापमान सामान्य से 5 डिग्री कम 21.2 डिग्री दर्ज किया गया। बारिश से शहर में कुछ स्थानों पर जलभराव हो गया।

आगरा में एक बार फिर उमस बढ़ने लगी है। गुरुवार को लगातार छह घंटे तक बारिश होने के बाद तापमान में तो कमी दर्ज हुइ है। लेकिन झमाझम होने का इंतजार है। शनिवार सुबह से कभी बादल छा रहे हैं तो कभी धूप निकल रही है। मौसम विभाग का अनुमान है कि यदि सब सही रहा तो दोपहर बाद बूंदाबांदी हो सकती है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि सप्ताह भर बादल लोगों को भिगोएंगे। तापमान 22 से 35 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा, जिससे गर्मी से लोगों को राहत मिलेगी। रविवार को बहुत हल्के बादल छाएंगे, जबकि मंगलवार व बुधवार को घने बादल छाए रहेंगे और वर्षा हो सकती है।

लखनऊ में शनिवार सुबह से ही बादलों की आवाजाही जारी है। बादलों का असर साफ तौर पर देखने को मिला। गुरुवार को हुई बारिश के बाद पारा कुछ कम हुआ था। लेकिन, अधिकांश इलाकों में बारिश नहीं होने से उमस जैसी स्थिति बनती दिखी थी। दिन में तापमान 33 डिग्री तक रिकॉर्ड किया गया। रात का पारा 27.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 4 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलती हवा और बारिश से लोगों को काफी राहत मिली। बारिश के कारण दिन में अधिकतम तापमान 28 डिग्री और न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है।

गोरखपुर से लेकर वाराणसी तक मानसून अपना असर द‍िखा रहा है। लोगों को पिछले दिनों से हो रही बारिश के कारण बेहतर स्थिति दिख रही है। अगले एक सप्ताह तक शहर में बारिश जैसी स्थिति बने रहने का अनुमान मौसम विभाग की ओर जताया गया है। गोरखपुर में शुक्रवार रात को बार‍िश के कारण मौसम काफी ठंडा हो गया है। लोगों को उमस जैसी स्थिति से राहत मिल गई है। सुबह से ही काले घने बादल छाए हुए हैं। ज‍िससे जोरदार बारिश की संभावना है।

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X