पुराने लखनऊ को भी जल्द मिलेगी मेट्रो की सौगात, बसंतकुंज तक ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर में होंगे 12 स्टेशन

लखनऊ,  मेट्रो के दूसरे चरण के ‘चारबाग से वसंत कुंज’ तक प्रस्तावित ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर को अपडेशन के बाद उत्तर प्रदेश सरकार (जी.ओ.यूपी) को सौंप दिया गया है.’चारबाग से वसंत कुंज’ तक पूर्व-पश्चिम कॉरिडोर की कुल मार्ग लंबाई 11.165 किलोमीटर होगी.

इसमें एलिवेटेड लंबाई 4.286 किलोमीटर होगी जबकि भूमिगत लंबाई 6.879 किलोमीटर होगी.इस कॉरिडोर में कुल स्टेशनों की संख्या 12 होगी, जिसमें 7 भूमिगत और 5 एलिवेटेड स्टेशन होंगे. इस प्रस्तावित कॉरिडोर के पूरा होने का अनुमानित समय 5 साल है.

ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर के 12 मेट्रो स्टेशन ये हैं- चारबाग, गौतम बुद्ध नगर, अमीनाबाद, पांडेयगंज, सिटी रेलवे स्टेशन, मेडिकल चौराहा, नवाजगंज, ठाकुरगंज, बालागंज, सरफराजगंज, मूसाबाग और वसंत कुंज.

‘चारबाग से वसंत कुंज’ तक लखनऊ मेट्रो का ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर पुराने लखनऊ के प्रमुख स्थानों जैसे अमीनाबाद, चौक आदि को कनेक्टिविटी प्रदान करेगा. यह अपने मार्ग के साथ अन्य भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों को भी जोड़ेगा और लखनऊ के लोगों को सुविधा प्रदान करेगा.

चारबाग मेट्रो स्टेशन लखनऊ के दोनों कॉरिडोर यानी नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर और ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर के जंक्शन के रूप में काम करेगा. इस कॉरिडोर का डिपो वसंत कुंज में बनाया जाएगा.

फरवरी 2019 में 11.165 किलोमीटर लंबे इस कॉरिडोर के निर्माण के लिए करों के बिना अनुमानित पूंजीगत लागत 3786 करोड़ रुपये थी, जो बढ़कर 4264.89 करोड़ रुपये हो गई है. डीपीआर को 750 डीसी ट्रैक्शन सिस्टम के साथ भी अपग्रेड किया गया है, जिसका पालन कानपुर और आगरा मेट्रो परियोजना में किया जा रहा है.

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X