घर में गुज़रना होगा एक सप्ताह, विदेशों से आने वाले लोगों के लिए सरकार ने जारी की नई गाइड लाइन

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

नई दिल्ली, भारत में सभी विदेशों से आ रहे यात्रियों के लिए आज से एक सप्ताह के लिए होम क्वारंटाइन से होकर गुजरना पड़ेगा.

केंद्र सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए संशोधित दिशानिर्देशों की घोषणा की है, ताकि देश भर में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के ओमीक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) पर रोक लगाई जा सके. आज से भी वह सभी यात्री जो अंतरराष्ट्रीय यात्रा कर यदि देश में आते हैं तो उन्हें सात दिन के लिए होम क्वारंटाइन होना पड़ेगा. इस अवधि में ये यात्री इधर-उधर नहीं घूम सकते हैं, उन्हें घर में ही रहना होगा. 7 दिन तक होम क्वारंटाइन में रहने के बाद आठवें दिन RT-PCR टेस्ट कराना जरूरी होगा।

जानिए देश में कितने हैं राजनीतिक दल, क्या होते हैं गैर राजनीतिक दल, आखिर क्या कहता है एडीआर का ब्यौरा

दस्तावेज़ के अनुसार, मौजूदा दिशानिर्देशों को Sars-CoV-2 (B.1.1.1.529; Omicron नाम दिया गया) के एक नए वेरिएंट की रिपोर्टिंग के मद्देनजर संशोधित किया गया है, जिसे विश्व स्वास्थ्य संगठन पहले ही चिंता व्यक्त कर चुकी है. यात्रियों को सात दिनों के लिए होम क्वारंटाइन से गुजरना होगा

दिल्ली स्थित भारतीय जनता पार्टी के मुख्यालय में हुआ कोरोना विस्फ़ोट, 42 स्टॉफ और सुरक्षा कर्मी हुए कोरोना पॉज़िटिव

भारत आगमन के आठवें दिन आरटी-पीसीआर परीक्षण करना होगा. वहीं 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को आगमन से पहले बाद में दोनों परीक्षणों से छूट दी गई है, अगर उन्हें घर पर या घर में होम क्वारंटाइन के दौरान कोरोना वायरस रोग (कोविड -19) के लक्षण पाए जाते हैं, तो उन्हें टेस्टिंग प्रक्रिया से गुजरना होगा. भारत में कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए ये फैसला लिया गया है।

अब नही कर पाएंगे ट्रेन में सफर : यदि आपके पास नही है कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट तो नही मिलेगा ट्रेन का टिकट

विदेश से आने वाले यात्रियों को आठवें दिन की गई कोरोना जांच की रिपोर्ट को एयर सुविधा पोर्टल पर अपलोड करना होगा, जिससे संबंधित राज्य यात्री पर निगरानी रख सके. वहीं यदि रिपोर्ट निगेटिव आती है तो यात्री सात दिन तक अपने स्वास्थ्य की निगरानी करेंगे लक्षणों की जांच करेंगे, जबकि पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर यात्री के सैंपल को जीनोम सिक्वेसिंग के लिए भेजा जाएगा.

होम क्वारंटाइन में रहने के बाद आठवें दिन RT-PCR टेस्ट कराना जरूरी

5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को आगमन से पहले बाद में दोनों परीक्षणों से छूट

रिपोर्ट निगेटिव आती है तो यात्री सात दिन तक अपने स्वास्थ्य की निगरानी करेंगे

लखनऊ में 18 साल से कम उम्र के किशोर और बच्चों में बड़ी तेज़ी से फैल रहा है कोरोना संक्रमण

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X