सड़कों से प्रदूषण कम करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का नया प्लान , हटेंगी पुरानी गाड़ियां

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

नई दिल्ली,  गुजरात में निवेश को बढ़ावा देने के लिए गुजरात इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वर्चुअली संबोधित कर रहे हैं। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 75वें स्वतंत्रता दिवस से पहले आज का ये कार्यक्रम आत्मनिर्भर भारत के बड़े लक्ष्यों को सिद्ध करने की दिशा में एक और कदम है। आज देश national automobile scrappage policy को लॉन्च कर रहा है, ये भारत की मोबिलिटी को नई पहचान देने वाला है। नई स्क्रैपिंग पॉलिसी, Waste to Wealth- कचरे से कंचन के अभियान की, #CircularEconomy की एक अहम कड़ी है।

ये पॉलिसी, देश के शहरों से प्रदूषण कम करने और पर्यावरण की सुरक्षा के साथ तेज़ विकास की हमारे कमिटमेंट को भी दर्शाती है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज एक तरफ भारत Deep Ocean mission के माध्यम से नई संभावनाओं को तलाश रहा है, तो वहीं सर्कुलर इकॉनॉमी को भी प्रोत्साहित कर रहा है। कोशिश ये है कि विकास को हम sustainable बनाएं, environment friendly बनाएं। पीएम मोदी ने कहा कि इस पॉलिसी से सामान्य परिवारों को हर प्रकार से बहुत लाभ होगा। सबसे पहला लाभ ये होगा कि पुरानी गाड़ी को स्क्रैप करने पर एक सर्टिफिकेट मिलेगा। ये सर्टिफिकेट जिसके पास होगा उसे नई गाड़ी की खरीद पर रजिस्ट्रेशन के लिए कोई पैसा नहीं देना होगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इसके साथ ही उसे रोड टैक्स में भी कुछ छूट दी जाएगी। दूसरा लाभ ये होगा कि पुरानी गाड़ी की मैंटेनेंस कॉस्ट, रिपेयर कॉस्ट, fuel efficiency, इसमें भी बचत होगी। इस पॉलिसी से सामान्य परिवारों को हर प्रकार से बहुत लाभ होगा। सबसे पहला लाभ ये होगा कि पुरानी गाड़ी को स्क्रैप करने पर एक सर्टिफिकेट मिलेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ये सर्टिफिकेट जिसके पास होगा उसे नई गाड़ी की खरीद पर रजिस्ट्रेशन के लिए कोई पैसा नहीं देना होगा। तीसरा लाभ सीधा जीवन से जुड़ा है। पुरानी गाड़ियों, पुरानी टेक्नॉलॉजी के कारण रोड एक्सीडेंट का खतरा बहुत अधिक रहता है, जिससे मुक्ति मिलेगी। चौथा, इससे हमारे स्वास्थ्य प्रदूषण के कारण जो असर पड़ता है, उसमें भी कमी आएगी।

Gujarat Investor summit का आयोजन केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय और राज्य सरकार द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है। इस समिट के जरिए स्वैच्छिक वाहन-बेड़े आधुनिकीकरण कार्यक्रम या वाहन स्क्रैपिंग नीति के तहत राज्य में वाहन स्क्रैपिंग इंफ्रास्ट्रक्चर स्थापित करने में निवेश के अवसरों को आकर्षित करने के लिए किया जा रहा है।

पीएमओ की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक Gujarat Investor summit में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री और गुजरात के मुख्यमंत्री भी उपस्थित रहेंगे। गांधीनगर में निवेशक शिखर सम्मेलन आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य अलंग में शिप-ब्रेकिंग उद्योग द्वारा प्रस्तुत निवेश के अवसरों पर ध्यान आकर्षित करना है, जो एक एकीकृत स्क्रैपिंग हब के विकास पर नजर गड़ाए हुए है। गौरतलब है कि गुजरात का अलंग बंदरगाह शिप ब्रेकिंग उद्योग के लिए प्रसिद्ध है और यहां दुनियाभर के बड़े-बड़े जहाजों को कबाड़ में तब्दील करने का काम किया जाता है।

कोरोना महामारी के इस दौर में प्रधानमंत्री इन दिनों ज्यादातर समिट, आयोजन, उद्घाटन और मीटिंग वर्चुअली वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए ही कर रहे हैं। गुरुवार को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर नारी शक्ति से संवाद कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने कहा कोरोना में जिस प्रकार से हमारी बहनों ने स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से देशवासियों की सेवा की वो अभूतपूर्व है।

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X