अरुणाचल प्रदेश में नदी का पानी अचानक हुआ काला हजारों मछलियां की हुयी मौत

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

कामेंग, अरुणाचल प्रदेश में कामेंग नदी का पानी अचानक से काला हो गया। अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि प्रदेश के पूर्वी कामेंग जिले में कामेंग नदी में नदी का पानी अचानक काला हो जाने के बाद हजारों मछलियां मृत पाई गईं।

अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। जिला मत्स्य पालन अधिकारी ने कहा कि कुल घुलित पदार्थों (टीडीएस) की उच्च सामग्री के कारण नदी का पानी काला हो गया है।

जिला मत्स्य विकास अधिकारी (डीएफडीओ) हाली ताजो ने कहा कि जिला मुख्यालय सेप्पा में शुक्रवार को नदी में हजारों मछलियां मृत पाई गईं। प्रारंभिक निष्कर्षों के अनुसार, मौतों का कारण टीडीएस का बड़ी मात्रा में होना है, जो पानी में जलीय प्रजातियों के लिए कम दृश्यता और सांस लेने में समस्या पैदा करता है।

हाली ताजो ने कहा कि कामेंग नदी में टीडीएस 6,800 मिलीग्राम प्रति लीटर था, जो सामान्य सीमा 300-1,200 मिलीग्राम प्रति लीटर से काफी अधिक है। इस बीच, सेप्पा गांव, जहां यह घटना हुई थी, के निवासियों ने चीन को दोषी ठहराया है, यह दावा करते हुए कि पड़ोसी देश द्वारा सीमा पार की जा रही निर्माण गतिविधियों के कारण टीडीएस का स्तर खतरनाक रूप से ऊंचा हो गया है।

सेप्पा पूर्व के विधायक टपुक ताकू ने राज्य सरकार से कामेंग नदी के पानी के रंग में अचानक बदलाव और बड़ी मात्रा में मछलियों की मौत के कारणों का पता लगाने के लिए तुरंत विशेषज्ञों की एक समिति गठित करने की अपील की। ताकू ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसी घटना कामेंग नदी में कभी नहीं हुई। उन्होंने कहा, ‘अगर यह कुछ दिनों से अधिक समय तक जारी रहा, तो नदी से जलीय जीवन पूरी तरह से समाप्त हो जाएगा। वे बोले, ‘पानी के रंग में अचानक बदलाव का कारण जिला के ऊपरी बेल्ट में भारी भूस्खलन हो सकता है।’

उन्होंने कहा कि अन्य कारण भी हो सकते हैं। राज्य सरकार को स्थिति का जल्द से जल्द अध्ययन करने के लिए तुरंत एक समिति का गठन करना चाहिए। बता दें कि पूर्वी सियांग जिले के पासीघाट में सियांग नदी नवंबर 2017 में काली हो गई थी। तब अरुणाचल पूर्व के तत्कालीन कांग्रेस सांसद निनान्ग एरिंग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर उनके हस्तक्षेप की मांग करते हुए दावा किया था कि यह चीन में 10,000 किलोमीटर लंबी सुरंग के निर्माण का परिणाम है, जिसने सियांग से शिनजियांग प्रांत में पानी को मोड़ दिया।

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X