उत्तर प्रदेश में परिषदीय स्कूलों का हाल, 1968 शिक्षक अनुपस्थित, 1688 का वेतन रोका गया

लखनऊ, उत्तर प्रदेश परिषदीय विद्यालयों (UP Council school) का निरीक्षण विशेष अभियान जारी है इधर शिक्षकों की उपस्थिति में सुधार हुआ है। लगातार तीसरे सप्ताह विद्यालयों से अनुपस्थित शिक्षकों (Teachers absent from schools) की संख्या 1968 रही है।

पहले चरण में 3901, दूसरे चरण में 3599 सहित अब तक कुल अनुपस्थित शिक्षकों की संख्या बढ़कर 9468 हो गई है। बेसिक शिक्षा विभाग (Basic education department) ने चौथे चरण का विशेष अभियान सोमवार से शुरू करने का आदेश दिया है और 13 अगस्त को सभी जिलों से रिपोर्ट मांगी गई है।

उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में पठन-पाठन दुरुस्त करने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग शिक्षकों की उपस्थिति पर विशेष जोर दे रहा है। विद्यालयों के निरीक्षण का विशेष अभियान लगातार चलाया जा रहा है। स्थलीय निरीक्षण का विशेष अभियान आठ से 13 अगस्त तक जारी रहेगा।

बेसिक शिक्षा अधिकारी सभी खंड शिक्षा अधिकारियों व जिला समन्वयकों को सुबह छह बजे कार्यालय बुलाकर एक ही विकासखंड में भेजकर विद्यालय आवंटित करके चार बिंदुओं पर जांच करा रहे हैं। जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी से मार्गदर्शन लेकर नामित अधिकारियों से निरीक्षण कराया जा रहा है।

महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद का कहना है कि सभी जिलों में 1968 शिक्षक अनुपस्थित मिले हैं। इनमें 1688 का वेतन रोका गया है, 267 शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा गया है, जबकि 13 शिक्षकों को निलंबित किया गया है। विद्यालयों के स्थलीय निरीक्षण के सार्थक परिणाम आए हैं लेकिन, अब भी जिलों में काफी संख्या में शिक्षक लगातार अनुपस्थित मिल रहे हैं। यह स्थिति स्वीकार करने योग्य नहीं है।

उन्होंने निर्देश दिया है कि विद्यालयों का स्थलीय निरीक्षण का विशेष अभियान आठ से 13 अगस्त तक जारी रहेगा। मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक प्रतिदिन निरीक्षण की समीक्षा करके उसे तय प्रारूप पर भेजें और 13 अगस्त को अनिवार्य रूप से सप्ताह भर की रिपोर्ट ईमेल पर उपलब्ध कराएं।

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X