“डरे हुए लोगों का पलायन शुरू” गैंगरेप के दोषियों की रिहाई से बिलकिस बानो के गांव के लोग दहशत में

अहमदाबाद, बिलकिस बानो केस के सभी दोषियों की कुछ दिनों पहले हुई रिहाई के बाद से यह मामला एक बार फिर सुर्खियों में आया है। साल 2002 के दंगों के दौरान गुजरात के दाहोद जिले के एक गांव रंधिकपुर में बिलकिस बानो के साथ गैंगरेप और उनके परिवार के 7 सदस्यों की हत्या ने सबको दहला कर रख दिया था।

उत्तर प्रदेश महिला उत्पीड़न एवं दुष्कर्म के अपराधों में पहले नम्बर पर : अखिलेश यादव

अब इस मामले को दोषियों की रिहाई के बाद मंगलवार को गांव में रहने वाले लोगों ने दावा किया है कि अपनी सुरक्षा को देखते हुए कई मुस्लिम परिवारों ने गांव छोड़ दिया है।

लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश के 43 जिलों में दो-दो फास्ट ईवी चार्जिंग स्टेशन खोलने की तैयारी

पड़ोस के ही एक गांव के सभी 11 दोषियों के रिहा होने के बाद से पुलिस ने रंधिकापुर गांव की सुरक्षा भी बढ़ा दी है। बता दें कि 15 अगस्त को बिलकिस बानो केस के 11 दोषियों को रिहा किया गया था। 15 साल तक इस मामले में जेल की सजा काटने के बाद गुजरात सरकार ने इनकी रिहाई के आदेश दिये थे। रंधिकापुर गांव के रहने वाले शाहरुख शेख ने बताया कि करीब 70 मुस्लिम परिवार दहशत में जी रहे हैं और कई अन्य गांव छोड़ कर चले गये हैं। यह लोग अपने शुभचिंतकों या रिश्तेदारों के साथ अन्य जगहों पर रह रहे हैं।

पब्जी खेलते खेलते लड़के लड़की में प्यार चढ़ा परवान, फिर मुलाकात और फिर शादी,

सुरक्षा को लेकर कलेक्टर से गुहार

शाहरुख शेख ने कहा, ‘हम डरे हुए हैं। दोषियों के रिहा होने के बाद कही उनकी तरफ से दोबारा हिंसा ना हो, इसी खौफ की वजह से कई लोगों ने गांव छोड़ा है। हमने कलेक्टर से आग्रह किया है कि वो दोषियों को जेल में डालें और गांव वालों को सुरक्षा प्रदान करें।’

गोवंशीय व महिष वंशीय पशुओं के लिए आई आफत, लंपी बीमारी के लिए गृह विभाग ने जारी की एडवाइजरी

 

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सोमवार को दाहोद के जिला कलेक्टर को एक ज्ञापन सौंपा गया है। इसमें गांव वालों ने अपने डर का जिक्र करते हुए कहा कि गांव के कई लोग अपना रोजगार छोड़ गांव से जा रहे हैं। गांव वालों ने कहा कि वो गांव छोड़ रहे हैं क्योंकि वो अपनी और खासकर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर डरे हुए हैं। वो तब तक वापस नहीं आएंगे जब तक कि सभी 11 दोषियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता है।

उत्तर प्रदेश में अब नहीं मिलेगा फ्री राशन, जानिए अब कैसे अंत्योदय एवं पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों को मिलेगा राशन

पुलिस ने कही यह बात

पुलिस उपाधीक्षक आरबी देवधा ने कहा, जिन दोषियों को छोड़ा गया है वो पड़ोस के गांव के रहने वाले हैं। लेकिन वो इस वक्त वहां मौजूद नहीं हैं लेकिन कुछ गांव वाले वहां से चले गये हैं। हमने स्थानीय लोगों से बातचीत के बाद अहम स्थानों पर पुलिस बल की तैनाती की है। लगातार पेट्रोलिंग की जा रही है। गांव वाले अपनी सुरक्षा को लेकर गंभीर हैं।’ दाहोद के पुलिस अधीक्षक बलराम मीणा न कहा कि 11 दोषी पड़ोस के सिंगवद गांव के रहने वाले हैं। लेकिन वो लोग उस इलाके में नहीं हैं। हमें ऐसी

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X