यूपी सरकार के मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी दिया इस्तीफा, दलितों, पिछड़ों और युवाओं की अनदेखी का लगाया आरोप, सपा में होंगे शामिल

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में चुनावों की तारीख का ऐलान होने के साथ ही नेताओं का भी दलबदल शुरू हो गया है। मंगलवार को

सरकार में मंत्री स्‍वामी प्रसाद मौर्य समेत 4 नेताओं ने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया तो आज यूपी सरकार के मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी इस्तीफा दे दिया।

इसके साथ एक दूसरे बड़े नेता अतवार सिंह भड़ाना का भी भारतीय जनता पार्टी से मोह भंग हो गया है।

दारा सिंह मऊ जिले की मधुबन विधानसभा सीट से विधायक हैं। उन्होंने राज्यपाल को भेजी चिट्ठी में योगी सरकार पर दलितों, पिछड़ों और युवाओं की अनदेखी का आरोप लगाया है।

स्वामी प्रसाद मौर्या चढ़े साईकल पर, दो और मंत्रियों के आने का दावा, सपा का बीजेपी पर बड़ा वार

दारा सिंह चौहान ने कहा, ”माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के मंत्रिमंडल में वन पर्यावरण और जन्तु उद्यान मंत्री के रूप में मैंने पूरे मनोयोग से अपने विभाग की बेहतरी के लिए कार्य किया, किन्तु सरकार की पिछड़ों, वंचितों, दलितों, किसानों और बेरोजगार नौजवानों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के साथ-साथ पिछड़ों और दलितों के आरक्षण के साथ जो खिलवाड़ हो रहा है, उससे आहत होकर मैं उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल से इस्तीफा देता हूं।”

लखनऊ में 18 साल से कम उम्र के किशोर और बच्चों में बड़ी तेज़ी से फैल रहा है कोरोना संक्रमण

हालांकि पार्टी छोड़कर जाने वाले नेताओं को चुनावी समर में ही पता चलता है कि जिस पार्टी में वह इतने लंबे समय से जमे हुए थे, उसकी विचारधारा अब उनसे भिन्न है। आरएलडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने ट्वीट कर जानकारी देते हुए कहा कि पूर्व सांसद और सीनियर नेता अवतार सिंह भड़ाना ही आरएलडी में शामिल हुए।

ऐसा नहीं है कि सिर्फ नेता बीजेपी छोड़कर दूसरी पार्टियों में जा रहे हैं, बल्कि दूसरी पार्टियों के कुछ नेताओं को भी बीजेपी अच्छी लगने लगी है। दिल्ली में उत्तर प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में आज बेहट (सहारनपुर) से कांग्रेस विधायक नरेश सैनी, सिरसागंज (फिरोजाबाद) के विधायक हरिओम यादव और सपा के पूर्व विधायक डॉ धर्मपाल सिंह भाजपा में शामिल हुए।

उत्तर प्रदेश में तेज हुआ नेताओं का दल-बदल, एक सपा और एक काँग्रेस का विधायक भाजपा में शामिल

इनमें सबसे बड़ा नाम हरिओम यादव का है, क्योंकि वह सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के समधि है और उनको बीजेपी में शामिल कराना स्वामी प्रसाद मौर्य को तोड़ने का जवाब के रूप में देखा जा रहा है।

वहीं एक समय पर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के सबसे वफादार चेहरों में शामिल कांग्रेस विधायक मसूद अख्तर और इमरान मसूद दोनों ने हाथ का साथ छोड़ते हुए साइकिल की सवारी को चुनावी मौसम में सही माना।

सूली डील्स’ ऐप मामले में संयुक्त राष्ट्र ने जताया विरोध, कहा ऐसी घटनाएं होते ही जल्द से जल्द मुकदमा चलाया जाना चाहिए

कांग्रेस का साथ छोड़ने पर विधायक मसूद अख्तर ने कहा, ”हमने (समाजवादी पार्टी के साथ) गठबंधन की मांग की, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। सपा और भाजपा के बीच सीधी लड़ाई है, इसलिए इमरान मसूद और मैंने समाजवादी पार्टी में शामिल होने का फैसला किया है। हमने आज शामिल होने के लिए अखिलेश यादव से समय मांगा है।”

भारत में लगातार भयावह हो रहा है कोरोना, 24 घंटों में आये कोरोना वायरस के 1,94,720 नए मामले

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X