नगर विकास विभाग उ.प्र. द्वारा एकीकृत ठोस अपशिष्ट प्रबंधन पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ

लखनऊ। निदेशक स्थानीय निकाय श्रीमती नेहा शर्मा ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन, शुरुआत से ही एक जन आंदोलन के रुप में देखा गया है। इसका जन-जन तक पहुंचना और इसमें, जन सहभागिता का होना बहुत जरुरी है। उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत हमारे आपके घर से होती है। कूड़ा को अलग-अलग करना (सूखा और गीला कूड़ा ) इसका पहला कदम है। हमें यह समझाने की जरूरत है। श्रीमती नेहा शर्मा ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन अपने आप में माननीय प्रधानमंत्री का एक बहुत ही प्रिय मिशन है।
निदेशक स्थानीय निकाय श्रीमती नेहा शर्मा सोमवार को नगर विकास विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा स्थानीय निकाय निदेशालय में एकीकृत ठोस अपशिष्ट प्रबंधन को लेकर आयोजित 3 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के शुभारम्भ पर संबोधित कर रहीं थी। इस कार्यक्रम में प्रदेश भर से आए जिला कार्यक्रम समन्वयक समेत स्वच्छ भारत मिशन से जुड़े अन्य अधिकारी शामिल हुए।
प्रशिक्षण कार्यक्रम GIZ (under German Development Cooperation ) के तकनीकी सहयोग से आयोजित किया जा रहा है। कार्यक्रम में ठोस अपशिष्ट से निपटने के लिए स्थानीय निकायों में मैटीरियल रिकवरी फैसिलिटी स्थापित करने और सतत संचालन के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है।

मेरठ को मिली नई पहचान

इस दौरान निदेशक ने मेरठ जनपद के कबाड़ से जुगाड़ अभियान की प्रशंसा की। इस अभियान का उल्लेख माननीय प्रधानमंत्री जी ने रविवार को प्रसारित लोकप्रिय कार्यक्रम मन की बात में किया था। प्रशिक्षण कार्यक्रम में श्रीमती नेहा शर्मा ने कहा कि इस अभियान से मेरठ जनपद को एक नई पहचान मिली है।

GIZ की तरफ से आए विशेषज्ञ सौरभ मनुजा ने बताया कि प्रशिक्षण के माध्यम से प्रदेश के नगर निकायों को ठोस अपशिष्ट से निपटने के लिए तैयार किया जा रहा है। प्रशिक्षण के बाद, प्रतिभागी अपनी स्थानीय अर्थव्यवस्था के भीतर गैर-बायोडिग्रेडेबल अपशिष्ट पदार्थों के प्रवाह का विश्लेषण करने, पर्यावरण में उनके रिसाव को रोकने के लिए रणनीतियों को डिजाइन और कार्यान्वित करने में सक्षम होंगे।

Related Posts

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X