उत्तर प्रदेश में वायरल बुखार और डेंगू का कहर जारी, फ़िरोज़ाबाद में मृतकों की संख्या पहुंची 151

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में डेंगू और वायरल फीवर से मौत का आंकड़ा थम नहीं रहा है। फिरोजाबाद जिले में सोमवार को नौ बच्चों समेत 11 मरीजों ने दम तोड़ दिया। जिले में मृतकों की संख्या 151 पर पहुंच गई है।

यहां के राजकीय मेडिकल कॉलेज स्थित सौ शैय्या अस्पताल में 450 से अधिक मरीज भर्ती हैं। उधर, मथुरा में गोवर्धन ब्लॉक में बुखार और डेंगू से दो बच्चों की मौत हो गई। वहीं कासगंज में भी बुखार से एक युवक की जान चली गई।

आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में सोमवार को डेंगू के 14 नए मरीज मिले। इसमें एसएन मेडिकल कॉलेज का जूनियर डॉक्टर भी शामिल है। सबसे ज्यादा मरीज फिरोजाबाद के हैं, इनकी संख्या 11 है। आगरा की बात करें तो तीन मरीजों में डेंगू मिला है। एसएन मेडिकल कॉलेज के डेंगू वार्ड में 24 मरीजों का इलाज चल रहा है। उधर, देहात में वायरल फीवर से घर-घर में चारपाई बिछी है।

हाथरस के गांव कुरसंडा में पिछले 15 दिनों से बुखार का कहर लोगों पर भारी पड़ रहा है। शनिवार को डेंगू के मरीज सामने आने के बाद लोगों में दहशत फैल गई है। अभी तक गांव के कुछ इलाकों में यह बीमारी फैल रही थी, लेकिन अब इस बीमारी ने गांव के अन्य इलाकों व मजरों में भी दस्तक देना शुरू कर दिया है। बुखार से पीड़ित काफी मरीज अपना उपचार आगरा में करा रहे हैं।

मेरठ में भी डेंगू के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। जिले में सोमवार को 15 नए मरीज मिले। अब तक 94 मरीज मिल चुके हैं, इनमें 51 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 43 ठीक हो चुके हैं। जो नए मरीज मिले हैं, वे रजबन, कसेरू बक्सर, मलियाना, रोहटा, लखीपुरा और जानी के रहने वाले हैं। इन स्थानों पर मलेरिया विभाग ने एंटी लार्वा स्प्रे और फॉगिंग कराई है।

बुलंदशहर जिले में इन दिनों वायरल बुखार का प्रकोप चरम पर है। सोमवार को जिला अस्पताल की ओपीडी में 1420 मरीजों ने उपचार कराया। इसमें 356 मरीज वायरल फीवर के थे। वहीं 1416 टीमों ने 77,649 घरों का सर्वे किया। इसमें वायरल के 214 मरीज और मिले।

एसीएमओ और नोडल अधिकारी डॉ. रोहताश यादव ने बताया कि आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की कुल 1416 टीम सर्वे में जुटी हुई हैं। प्रत्येक टीम द्वारा प्रतिदिन 50-50 घरों का सर्वे कर वायरल पीड़ितों की पहचान की जा रही है। 214 बुखार के मरीजों को दवा की किट दी गई।

कानपुर में बुखार के दो और रोगियों की मौत हो गई है। दोनों रोगी पहले से अस्थमा की चपेट में रहे हैं। बुखार आने के दो दिन के बाद ही दम तोड़ दिया। इसके साथ ही सोमवार को डेंगू का एक संक्रमित मिला है। सीएमओ डॉ. नैपाल सिंह ने सभी पीएचसी प्रभारियों को आदेश दिए हैं कि ओपीडी में बुखार के 10 रोगी आने पर कैंप लगाकर सैंपलिंग की जाए।

कन्नौज में डेंगू का डंक थम नहीं रहा है। रविवार को डेंगू के 13 मामले मिले। इनको मिलाकर जिले में डेंगू मरीजों की संख्या 74 पहुंच गई है। कई गांव में स्वास्थ्य टीम कैंप लगाकर मरीजों का उपचार कर रहीं हैं। गांव में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त किया जा रहा है।

रायबरेली में स्क्रब टाइफस की चपेट में आने के बाद लखनऊ के एक निजी अस्पताल में मरीज की मौत हो गई। वह जिले के डलमऊ क्षेत्र का मूल निवासी था लेकिन कई वर्षों से लखनऊ में परिवार के साथ रहता था। जांच में दो लोग डेंगू पॉजिटिव पाए गए हैं। डेंगू संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर अब सात हो गई है। जिले में संक्रमण बढ़ने के बाद सतर्कता बढ़ा दी गई है।

गोंडा के गांवों में वायरल बुखार के साथ ही अब डेंगू का प्रकोप भी तेजी से फैलने लगा है। सरकारी अस्पताल से लेकर निजी अस्पतालों तक में बुखार पीड़ित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। सोमवार को जिला अस्पताल में वायरल बुखार के साथ ही दो नए डेंगू संक्रमित मरीजों को भर्ती कराया गया। दूसरी तरफ डेंगू की जांच को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से उदासीन बना हुआ है। जांच न होने पाने के कारण ही डेंगू मरीजों की पुष्टि भी नहीं हो पा रही है।

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X