किसानों को कुचलने के आरोपी मंत्री के बेटे की गिरफ़्तारी और मंत्री की बर्खास्तगी अब तक क्यों नहीं हुई : प्रियंका गांधी

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

लखनऊ, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। प्रियंका गांधी की रिहाई के लिए सीतापुर में पीएसी गेस्ट हाउस के बाहर कांग्रेस समर्थकों का विरोध जारी है।

वहीं, प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है।


केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे की गाड़ी से किसानों को कुचलने का वीडियो वायरल सामने आने के बाद पड़ोसी जिले सीतापुर में नज़रबंद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया पर वीडियो दिखाते हुए पीएम मोदी से पूछा है कि किसानों को कुचलने के आरोपी मंत्री के बेटे की गिरफ़्तारी और मंत्री की बर्खास्तगी अब तक क्यों नहीं हुई है।

किसानों को कुचलने का वीडियो वायरल होने के बाद प्रियंका गांधी ने फेसबुक पोस्ट के जरिये पीएम मोदी से सवाल पूछते हुए कहा कि “मैंने सुना है कि आप आज़ादी का महोत्सव मनाने के लिए लखनऊ आ रहे हैं। मैं आपसे पूछना चाहती हूं कि आपने ये वीडियो देखा है। ये वीडियो आपकी सरकार के एक मंत्री के बेटे को किसानों को अपनी गाड़ी के नीचे कुचलते हुए दिखाता है। इस वीडियो को देखिए और बताइए कि मंत्री की बर्खास्तगी अब तक क्यों नहीं हुई है। उनके लड़के को अब तक गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया है।

प्रियंका गांधी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके जैसे विपक्ष के नेताओं को बिना आर्डर और एफआईआर के हिरसत में रखा गया है। कहा कि वह जानना चाहती हैं कि ये आदमी आजाद क्यों है? कहा कि जिन किसानों ने आजादी दिलवाई और जिनके बेटे सीमा की सुरक्षा करते हैं। वही किसान महीनों से त्रस्त हैं।

कहा कि किसान अपनी आवाज़ उठा रहा है और पीएम मोदी उसे नकार रहे हैं। प्रियंका ने कहा कि मोदी जी लखीमपुर आइये न और देखिए कि जिन्होंने आजादी दिलवाई जो अन्नदाता हैं। इस देश की जो आत्मा हैं। उनकी पीड़ा समझिये, उनकी सुरक्षा करना आपका धर्म है। पीएम मोदी को सलाह देते हुए उन्होंने कहा कि जिस संविधान पर उन्होंने शपथ ली,उसका धर्म है और उसके प्रति आपका कर्तव्य है।

आपको बता दें कि रविवार को तड़के प्रियंका गांधी को सीतापुर पुलिस ने हिरासत में लिया था। उसके बाद से अब तक प्रियंका गांधी पुलिस की हिरासत में ही हैं। उनकी रिहाई के लिए कांग्रेस कार्यकर्ता सीतापुर में पीएसी गेस्ट हाउस के गेट पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

कांग्रेस नेताओं का कहना है कि 30 घंटे से अधिक हिरासत में रखी गई प्रियंका गांधी के कमरे के ऊपर यूपी पुलिस का ड्रोन कैमरा है। सच्चाई ये है कि हमें पता भी नहीं कि ये ड्रोन है किसका? यहां खड़े अधिकारी और पुलिस कह रहे हैं। उन्हें कोई संज्ञान नहीं। डरी हुई भाजपा सरकार काम देखिए। प्रियंका गांधी को जिस कमरे में हिरासत में रखा गया है, उसके बाहर ड्रोन कैमरे से सरकार निगरानी कर रही है। भाजपा सरकार का किसानों की आवाज को कुचलने की कोशिश जारी।

आपको बता दे कि लखनऊ से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी रविवार रात कार से सीतापुर के रास्ते लखीमपुर के लिए निकलीं थीं। पुलिस की घेराबंदी को चकमा देने के लिए वे कार की पीछे वाली सीट के नीचे छिपकर जा रही थीं। इस बात का खुलासा हरगांव में कार की चेकिंग के दौरान हुआ। पुलिस सूत्रों की माने तो सीट के नीचे प्रियंका गांधी बैठी थीं।

लखनऊ से प्रियंका गांधी के निकलने के बाद राजधानी से जिले के डीएम व एसपी को फरमान सुनाया गया कि किसी भी कीमत पर कांग्रेस महासचिव को लखीमपुर नहीं जाने दिया जाए। राजधानी से फरमान आते ही डीएम-एसपी अलर्ट मोड पर आ गए। अटरिया से लेकर लहरपुर तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा लगा दिया गया।

मामले की नजाकत को देखते हुए प्रियंका गांधी ने रूट ही बदल दिया। इसकी सूचना मिलते ही डीएम-एसपी के होश उड़ गए। इसके बाद पुलिस पूरी ताकत से प्रियंका गांधी को पकड़ने के लिए घेराबंदी करने लगी। आखिर में हरगांव में उन्हें रोक लिया गया था।

किसानों से बिना मिले यहां से नहीं जाएंगे: प्रियंका वहीं, इससे पहले सीतापुर के गेस्ट हाउस में अरेस्ट कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पुलिस प्रशासन से दो टूक कहा है कि वह पीड़ित किसान परिवारों से बिना मिले यहां से नहीं जाएंगी। कानून के शासन में इस तरह से नहीं रोका जा सकता।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि लखीमपुर में राजनीतिक तनाव के लिए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और उनका बेटा जिम्मेदार है। भाजपा सरकार उन्हें क्यों बचा रही है? सरकार को हमें हिरासत में लेने के बजाय दोषी भाजपा नेताओं पर कार्रवाई करने में फुर्ती दिखानी चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार किसानों को कुचलने की राजनीति कर रही है।

किसानों को खत्म करने की राजनीति कर रही है। लखीमपुर की घटना बताती है कि भाजपा सरकार किसानों पर अत्याचार की किस हद तक जा सकती है। लेकिन, हम किसानों की आवाज को दबने नहीं देंगे। भाजपा सरकार के किसान विरोधी मंसूबे कामयाब नहीं होने देंगे। प्रियंका के साथ ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, सांसद दीपेंद्र हुड्डा, विधान परिषद में कांग्रेस विधायक दल के नेता दीपक सिंह और अमरनाथ अग्रवाल भी गिरफ्तार किए गए हैं।

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी प्रियंका गांधी को हिरासत में रखने के मामले में ट्विट किया। उन्होंने लिखा कि जिसे हिरासत में रखा है, वो डरती नहीं है, सच्ची कांग्रेसी है, हार नहीं मानेगी! सत्याग्रह रुकेगा नहीं।


कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने देर रात अमर उजाला को बताया कि हमारी पार्टी की नेता प्रियंका गांधी समेत पूरी टीम लखीमपुर खीरी पीड़ित परिवारों से मिलने जाना चाहती हैं। अब यह पुलिस और प्रशासन की जिम्मेदारी है कि वो किस तरह से हमें मिलवाता है। इतना तय है कि बिना मिलें यहां से नहीं हटेंगे।

 

Related Posts

Header

Cricket

Panchang

Gold Price


Live Gold Price by Goldbroker.com

Silver Price


Live Silver Price by Goldbroker.com

मार्किट लाइव

hi Hindi
X